Mile Ho Tum Humko Lyrics By Neha Kakkar


Mile Ho Tum Humko Lyrics 


Mile Ho Tum Humko Lyrics By Lyrics By Tony Kakkar Mile Ho Tum Humko Lyrics Is Available In Both Version English And Hindi  I Hope You Like Mile Ho Tum Humko Lyrics










Mile Ho Tum Humko Lyrics
Mile Ho Tum Humko Lyrics By Neha Kakkar- LyricsPro

 

 

mile ho tum hamako,

bade naseebon se

churaaya hai mainne

qismat kee lakeeron se

mile ho tum hamako,

bade naseebon se

churaaya hai mainne

qismat kee lakeeron se

teree mohabbat se

saansen milee hain

sada rahana dil mein

qareeb hoke

mile ho tum hamako,

bade naseebon se

churaaya hai mainne

qismat kee lakeeron se

mile ho tum hamako,

bade naseebon se

churaaya hai mainne

qismat kee lakeeron se

teree chaahaton mein

kitana tadape hain

saavan bhee kitane

tujh bin barase hain

zindagee mein meree

saaree jo bhee kamee

thee tere aa jaane

se ab nahin rahee

sada hee rahana tum

mere kareeb hoke

churaaya hai mainne

qismat kee lakeeron se

mile ho tum hamako bade

naseebon se churaaya hai

mainne qismat kee

lakeeron se

baanhon mein teree ab

yaara jannat hai maangee

khuda se too vo mannat hai

teree vafa ka sahaara mila

hai teree hee vajah

se ab main zinda hoon

teree mohabbat se zara

ameer hoke churaaya hai

mainne qismat kee

lakeeron se

mile ho tum hamako bade

naseebon se churaaya hai

mainne qismat kee lakeeron se








HINDI





मिले हो तुम हमको, बड़े नसीबों से
चुराया है मैंने क़िस्मत की लकीरों से

मिले हो तुम हमको, बड़े नसीबों से
चुराया है मैंने क़िस्मत की लकीरों से

तेरी मोहब्बत से साँसें मिली हैं
सदा रहना दिल में क़रीब होके

मिले हो तुम हमको, बड़े नसीबों से
चुराया है मैंने क़िस्मत की लकीरों से
मिले हो तुम हमको, बड़े नसीबों से
चुराया है मैंने क़िस्मत की लकीरों से

तेरी चाहतों में कितना तड़पे हैं
सावन भी कितने तुझ बिन बरसे हैं

ज़िन्दगी में मेरी सारी जो भी कमी थी
तेरे आ जाने से अब नहीं रही



सदा ही रहना तुम मेरे करीब होके
चुराया है मैंने क़िस्मत की लकीरों से
मिले हो तुम हमको बड़े नसीबों से
चुराया है मैंने क़िस्मत की लकीरों से

बाँहों में तेरी अब यारा जन्नत है
माँगी खुदा से तू वो मन्नत है

तेरी वफ़ा का सहारा मिला है
तेरी ही वजह से अब मैं ज़िन्दा हूँ

तेरी मोहब्बत से ज़रा अमीर होके
चुराया है मैंने क़िस्मत की लकीरों से
मिले हो तुम हमको बड़े नसीबों से
चुराया है मैंने क़िस्मत की लकीरों से






Comments

Popular posts from this blog

BAHANA LYRICS - AKULL

SHURU LYRICS BY BADSHAH